3D Internet Kya Hai Aur Kaise Use Kiya Jata Hai

Share

3D Internet Kya Hai – दोस्तों यदि आप 3D इंटरनेट के बारे में जानने आए हैं तो आप एकदम सही पोस्ट पर आए हैं इस पोस्ट में मैं आपको 3D इंटरनेट क्या होता है (3D Internet Kya Hai)3D इंटरनेट कैसे काम करता है के बारे में पूरी जानकारी देने वाला हूं दोस्तों आपको बता दूंगा हमारी वेबसाइट पर आपको ऐसी ही तकनीकी विज्ञान और इंटरनेट से संबंधित सभी जानकारियां हिंदी में मिलती है तो शुरू करते है 3D इंटरनेट के बारे मे जानना

दोस्तों आज का जमाना इंटरनेट का जमाना है।अगर आप आज के जमाने में दुनिया के साथ चलना चाहते हैं तो आपको इंटरनेट के बारे में पता जरूर होना चाहिए नहीं तो आप पीछे रह जाएंगे और दुनिया आपसे बहुत आगे निकल जाएगी । इसलिए खुद को अपडेट करने के लिए खुद के इंटरनेट को भी अपडेट करना जरूरत होती है। आज के  जमाने में हम लोग 2D Internet का इस्तेमाल करके, इंटरनेट की दुनिया से कनेक्शन build करते हैं। और इंटरनेट के संपर्क मे रहते है लेकिन भविष्य 2D इंटरनेट से पीछे मुड़कर 3D इंटरनेट में अपडेट होने का मानचित्र बना लिया।

आखिर 3D इंटरनेट क्या होते हैं, 2D इंटरनेट के साथ इसकी डिफरेंस क्या है, 3D internet का benifits क्या है और 3D इंटरनेट कैसे काम करता हैं इन सारी बातों को आज हम इस पोस्ट में विस्तार  से जानेगे।

लेकिन 3D इंटरनेट क्या है जानने से पहले 2D internet क्या है उसके बारे में थोड़ा जानकारी लेना चाहिए। जिसके माध्यम  से आप 3D और 2D intenet के बीच  मे क्या अंतर  है उसके बारे में अच्छे से समझ पाएंगे।

2D Internet क्या है? ( What Is 2D Internet in Hindi ? )

ज़ब हम  इंटरनेट को चलाते है तो उस समय हमारे सामने रिजल्ट  ज्यादातर text, normal टेक्स्ट या फिर ज्यादातर  image normal png/jpg  और ज्यादातर text, normal text format मे दिखाई देते हैं उस तरह इंटरनेट को 2D Internet कहा जाता है। जो हम अभी वर्तमान समय मे उपयोग  कर रहे है।

2D का मतलब है Two Dimensional। इसका मतलब है आप दो चीज को एक साथ देख सकते हैं लेकिन उन दो चीज के बीच कितने depth है वह आप नहीं नाप सकते।

Example – जब आप ऑनलाइन  शॉपिंग  करते है तो आप ककी भी प्रोडक्ट को खरीदने  से पहले उसका image, photo  ज़रूर देखते है और आप उस प्रोडक्ट  की ज्यादा जानकारी  लेने के लिए उसके हर फोटो को स्क्रॉल कर के देखते है पर आप उस इमेजेज को या फोटो  को depth एंड width  मे घुमा कर नहीं देख सकते

परन्तु  वही आप 3D  इंटरनेट  मे images को अच्छे से जानने के लिए 3D इमेजेज  का उपयोग कर सकते है।

और जो भी आप देख रहे है वो आपको असली अनुभव  करवाता है।

मेरे  हिसाब से आपको इस उदाहरण  के द्वारा 2D और 3D इंटरनेट  के बीच का अंतर समझ मेरे आ चूका होगा तो चलिए अब और विस्तार  से जानते है की आखिर 3D इंटरनेट क्या है और कब तक उपयोग मेरे आने लगेगा।

3D Internet Kya Hai ? ( What Is 3D Internet In Hindi )

जब इंटरनेट में ज्यादा से ज्यादा 3D ग्राफिक्स के जरिए, कोई भी चीज को देखने को मिलते हैं, उस तरह इंटरनेट को 3D internet कह जाता है। 3D internet इस्तेमाल करते समय यूजर कल्पना के साथ कोई भी चीज के बारे मे असली  का अनुभव कर पाते हैं। क्योंकि यूजर को लगता हैं वह चीज उसके सामने सच में मौजूद है। और उसका देखने का नज़रिया  भी बदल जाता है।

3D का full form है  Three Dimensional।इसका मतलब है आप दो चीज को एक साथ देखने के साथ-साथ उन दो चीज के बीच कितने depth & width है वह भी देख पाएंगे।

जबकि 2D इंटरनेट में normal text, normal image यूज़ होते हैं उसी तरह 3D इंटरनेट में 3D ग्राफिक्स के साथ टेक्स्ट/इमेज/video का इस्तेमाल होते हैं।

Example –  आप यूट्यूब पर 360 वीडियो को देख सकते हैं वह आप उस वीडियो के किसी भी Part को देख सकते हैं और यदि आप 3D इमेज का उदाहरण देखना चाहते हैं तो प्ले स्टोर से Google Street viewऐप को डाउनलोड करके जो इमेज उसके अंदर दी हुई है उसे देख कर अच्छी तरह से समझ सकते हैं के अलावा आप फेसबुक पर सर्च करें फेसबुक 360अब आप फेसबुक का ऑफिशियल पेज देखेंगे उसमें कुछ 3D इमेज का यूज किया हुआ है जहां पर आप उस 3D इमेज का कोई भी एंगल पार्ट देख सकते हैंमुझे लगता है आप 3D इमेज किस तरह होती हैं समझ चुके होंगे।

इसके अलावा मैं आपको दूसरा उदाहरण दूं तो कारदेखो वेबसाइट पर आपजब विजिट करते हैं तो कार की फोटो देखने के लिए आप 3D इमेज का यूज करते हैं वहां पर आप कार के किसी भी एंगल को देख सकते हैं और अच्छे से डिटेल ले सकते हैंजिससे जो भी व्यक्ति इंटरेस्टेड होता है उससे कार के बारे में हर तरीके की जानकारी मिल जाती हैजिससे उसे प्रोडक्ट की डिटेल समझने में आसानी होती है।

Note – आपको शायद याद होगा कि 3G Internet आने के बाद 2G इंटरनेट पूरी तरह खत्म हो गया है। ऐसे ही 3D Internet आने के बाद, धीरे-धीरे 2D इंटरनेट भी खत्म हो जाएगा।

तो 3G इंटरनेट का defination एक बात में दिया जाए तो जिस इंटरनेट पर सभी नॉर्मल चीजों को modify और develope करके 3D में convert किया गया है उसी 2G इंटरनेट को भी 3D में मॉडिफाई किया जा रहा है

 3D Internet के फायदे  ( Benifits of 3d Internet in Hindi )

  1. जो लोग ई-कॉमर्स साइट से सामान खरीदना पसंद करते हैं उन लोगों के लिए एक इमेज के ऊपर क्लिक करके product कैसा है, देखने में क्या है, colour combination कितना अच्छा है, वो सब बहुत अच्छे से समझ पाएंगे।

  2.  किसी वीडियो को देखते समय उस वीडियो को घुमा फिरा कर सभी portion को देखने का मौका मिलेगा। जहां यूजर को लगेगा वह खुद वीडियो के scene में part ले रहे हैं। और देखनी है में इंटरेस्ट बढ़ जाएगा

  3. बहुत कम समय में किसी भी चीज के बारे में कल्पना के साथ महसूस कर पाएंगे।
    ज्यादातर Text एनिमेशन के ऊपर show होगा। जो user को देखने में और पढ़ने में बहुत आसन लगेगा। और Attractive भी लगेगा

3D Internet कैसे कम करते हैं? ( How to work 3D Internet In Hindi )

जितने भी यूजर इंटरनेट इस्तेमाल करते हैं वह सब एक दूसरे के साथ optical fibre के जरिए कनेक्ट हो पाते हैं। आज के टाइम में जो 2D इंटरनेट हम लोग यूज़ करते हैं वह इंटरनेट का 2.0 version के अंदर आते हैं। इसलिए 2D इंटरनेट 2.0 इंटरनेट version का बहुत सारी तकनीकी को फॉलो करके प्रयोग किया जाता है। यह तो गई 2D इंटरनेट की बात।

लेकिन 3D इंटरनेट एक तरह की virtual platform होने के कारण इसके अंदर I.E second Life कि virtual version का इस्तेमाल किया जाता है। और उसके साथ-साथ इसके अंदर machine learning और artificial intelligence का combine इस्तेमाल होते है। और उसके साथ साथ 3D image, 3D Text, 3D audio, and 3D video को यूजर के सामने रखने के लिए sixth-sense technology के साथ साथ Google 3D Glassss और 3D Eyewear को भी इसके अंदर रखा जाता है। और finally project sense मैं काम करने के लिए sensor और holographic image का भी उपयोग भी इसके अंदर किया जाता है।

और इतनी सारी चीजों को एक साथ मिलाकर 3D Internet को यूजर के सामने रखा जाता है। जिसके जरिए 3D internet, user के लिए perfectly काम करता हैं।

2D & 3D Internet के अंदर difference क्या है?

2D Technology –

अलग अलग फोटो को Swipe करके देखना होगा। इसे टाइम बहुत लगेगा। Presentation के समय में बाढ़ बाढ़ slide up करना पड़ता है। Normal speed में काम पूरा होने का Chances ज्यादा हैं।

3D Technology –

एक ही फोटो को घुमा कर  अब देख सकते हैं। अलग-अलग इमेज को ओपन करने का जरूरत नहीं पड़ेगा। टाइम बहुत कम लगेगा बहुत आसानी से कोई भी presentation को दूसरों के सामने present कर सकते हैं। User को ज्यादा टाइम interect किया जा सकते हैं। User के Working speed increase होते है।

FAQ

Why इंटरनेट किसने बनाया?  ( Who Invented 3d Internet In Hindi)

क्योंकि 3d Internet बहुत सारे consumer, customers, partner, online students के इंटरनेट पर रोजाना काम बहुत आसन कर देता हैं। जिसके जरिए सभी इंटरनेट यूजर बहुत आसानी से कोई भी चीज समझ पाते हैं। और जो लोग सोशल मीडिया के जरिए दोस्तों और फैमिली के साथ कनेक्ट रहते हैं वह 3D इंटरनेट के जरिए real time, virtual connection build कर  पाएंगे।

Aaron Dishno, 3d Internet का आविष्कारक है। जिन्होंने पहली बार 3d website बनाने के साथ-साथ 3d internet browsing कैसे किया जा सकता है उसको full details, science को बताया है। और उन्होंने यह भी बताया है कैसे धीरे-धीरे 2D Internet 3D मैं convert हो जाएगा। इतनी सारी चीज Aaron Dishno ने खुद  पूरी परीकल्पना के साथ करने के लिए उनको 3d Internet का आविष्कारक बुलाया जाता है।

Conclusion – तो मैं उम्मीद करता हूं कि 3D इंटरनेट क्या होते हैं और 3D इंटरनेट कैसे काम करते हैं इसके बारे में आप अच्छे से समझ चुके होंगे। अगर अभी भी 3D इंटरनेट के बारे में कोई सवाल आपके मन में है तो आप कमेंट करके हमें पूछ सकते हैं। आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा हमें जरूर बताएं और अपने दोस्तों के साथ 3D इंटरनेट क्या होता है को शेयर करें । आप हमारी वेबसाइट पर इंटरनेट एंड्राइड से जुड़ी और भी जानकारी ले सकते हैं हमारी वेबसाइट में आपको कहीं तरह की कैटेगरी मिल जाती है जिसे आप एक्सप्लोर कर सकते हैं


Share

Bloggingadda.in में आपका स्वागत है इस ब्लॉग पर ब्लॉग्गिंग,वर्डप्रेस,से और भी कई इंटरनेट से सम्बंधित जानकारी प्रदान करता हु ताकि लोगो को मेरी हेल्प मिल सके उम्मीद करता हु आपको मेरा ब्लॉग पसंद आया होगा

Leave a Comment